• Name
  • Email
मंगलवार, 18 मई 2021
 
 

ममता बनर्जी 5 मई को लेंगी मुख्यमंत्री पद की शपथ

सोमवार, 3 मई, 2021  आई बी टी एन खबर ब्यूरो
 
 


ममता बनर्जी पांच मई 2021 को भारत के राज्य पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगी।

यह लगातार तीसरा मौक़ा होगा जब वो पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री का पद संभालेंगी। लगभग एक महीने तक आठ चरणों में हुए मतदान के बाद पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस को एकबार फिर बहुमत मिला है।

आठ चरणों में हुए मतदान के नतीजे दो मई 2021 की देर रात तक आए। पश्चिम बंगाल में कुल 292 विधानसभा सीटें हैं। 292 सीटों में से 213 सीटें जीतकर तृणमूल कांग्रेस ने बहुमत हासिल किया है वहीं बीजेपी पश्चिम बंगाल में दूसरे सबसे बड़े दल के रूप में सामने आयी है। बीजेपी ने 77 सीटों पर जीत दर्ज की है।

पहली बार ऐसा हुआ है जब एक पीएम ने फ़ोन नहीं किया: ममता बनर्जी

भारत के राज्य पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए सोमवार, 3 मई, 2021 को कहा कि यह पहला मौका है जब एक प्रधानमंत्री ने जीत की बधाई देने के लिए फोन नहीं किया है। शायद वे व्यस्त थे।

चुनावी नतीजों के बाद पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता के कालीघाट स्थित आवास पर पहली प्रेस कांफ्रेंस में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक मोबाइल संदेश के हवाले से दावा किया कि नंदीग्राम के रिटर्निंग ऑफिसर ने जान के डर से वोटों की दोबारा गिनती का निर्देश नहीं दिया। लेकिन टीएमसी प्रमुख ने यह नहीं बताया कि आखिर रिटर्निंग ऑफिसर ने किससे यह आशंका जताई थी।

ममता ने बीजेपी पर ईवीएम बदलने का आरोप लगाते हुए इस मुद्दे पर अदालत में जाने की बात भी दोहराई।

ममता का कहना था कि नंदीग्राम में पहले उनको विजयी घोषित कर दिया गया था और राज्यपाल ने उनको जीत की बधाई भी दे दी थी।

ममता ने आरोप लगाया कि नतीजों के बाद बीजेपी हताशा में टीएमसी समर्थकों पर हमले कर रही है। ममता ने चुनाव के दौरान कूचबिहार के एसपी समेत कई पुलिस अधिकारियों पर बीजेपी के पक्ष में काम करने का भी आरोप लगाया।

टीएमसी प्रमुख ने लोगों से शांति बहाल रखने और संक्रमण से बचने के लिए सावधानी बरतने की अपील की है।

ममता ने कहा कि कोरोना की परिस्थिति सामान्य होने के बाद टीएमसी ब्रिगेड परेड मैदान में विजय रैली आयोजित करेगी। उसमें भारत के तमाम नेताओं को न्योता दिया जाएगा।

चुनाव में कांग्रेस और सीपीएम का सूपड़ा साफ़ होने का जिक्र करते हुए ममता ने कहा कि वे नहीं चाहतीं कि कोई पार्टी इस तरह साफ़ हो जाए।

ममता ने कहा, ''हमारे राजनीतिक मतभेद हो सकते हैं लेकिन बीजेपी के कुछ वोट इन दोनों को मिलते तो बेहतर होता।''

इस दौरान मुख्यमंत्री ममता ने राज्य के पत्रकारों को कोरोना वॉरियर का दर्जा भी दिया।

 
 
 
 
 
 
 
 
 

खास खबरें

 
अमेरिका के शीर्ष संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉक्टर एंथनी फ़ाउची ने कहा है कि कोरोना वायरस को लेकर किए गए 'ग़लत पूर्वानुमान' के कारण आज भारत 'ख़तरनाक भंवर' में है। उन्होंने कहा कि भारत ने सीओवीआईडी-19 के ख़त्म ...
कोरोना वायरस महामारी को लेकर दुनिया के विभिन्न देशों के काम करने के तरीक़े पर एक स्वतंत्र पैनल की रिपोर्ट में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) और कई देशों की सरकारों पर नाकामी के गंभीर ...
 

खेल

 
2021 में टोक्यो में होने वाले ओलंपिक खेलों को केवल दो महीनों का वक़्त बाक़ी है। इस बीच कोरोना महामारी के बढ़ते असर को देखते हुए स्वास्थ्य विशेषज्ञ इसे रद्द करने की मांग कर रहे हैं ...
 

देश

 
भारत में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कोरोना संकट को लेकर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला जारी रखते हुए कहा है कि वो भी वैक्सीन, ऑक्सीजन और दवाओं की तरह लापता हैं ...
 
भारत में बारह विपक्षी पार्टियों के नेताओं ने बुधवार, 12 मई 2021 को भारत के पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को रोकने की मांग की है। इसके अलावा इन नेताओं ने मुफ़्त टीकाकरण ...