• Name
  • Email
वृहस्पतिवार, 11 अगस्त 2022
 
 

कई अमेरिकी कंपनियों पर रूसी हैकर्स के बड़े साइबर हमले

शनिवार, 3 जुलाई, 2021  आई बी टी एन खबर ब्यूरो
 
 
एक साइबर-सुरक्षा फर्म के अनुसार, लगभग 200 अमेरिकी कंपनियां, एक बड़े रैनसम वेयर हमले से प्रभावित हुई हैं।

हंट्रेस लैब्स ने कहा कि हैकर्स ने अपने सॉफ्टवेयर से आईटी कंपनी कासिया को निशाना बनाया और उसके बाद कासिया के कॉर्पोरेट नेटवर्क को इस्तेमाल करने वाली तमाम कंपनियों को टार्गेट किया।

कासिया ने अपनी वेबसाइट पर एक बयान में कहा कि वह ''संभावित हमले'' की जांच कर रही है। हंट्रेस लैब्स का मानना ​​​​है कि इस हमले के पीछे 'रेविल रैंसमवेयर' गिरोह है, जिसके तार रूस से जुड़े हैं।

साइबर सुरक्षा के लिए ज़िम्मेदार अमेरिका की एक संघीय एजेंसी ने एक बयान में कहा कि वह हमले की पड़ताल कर रही है।

साइबर-उल्लंघन शुक्रवार, 02 जुलाई 2021 की दोपहर को सामने आया।

कितनी कंपनियां प्रभावित हुई?

कासिया ने अपने बयान में कहा है कि बहुत कम कंपनियां इस साइबर अटैक से प्रभावित हुई हैं लेकिन हंट्रेल लैब्स के मुताबिक दो सौ से अधिक कंपनियां प्रभावित हैं।

बीबीसी ने कासिया से संपर्क कर प्रभावित होने वाली कंपनियां के बारे में पूछा लेकिन कंपनी ने इसका जवाब देने से इंकार कर दिया।
 
 
 
 
 
 
 
 
 

खास खबरें

 
बर्मिंघम में चल रहे राष्ट्रमंडल खेलों में भारत की महिला हॉकी टीम सेमी फ़ाइनल में पहुँच गई है ...
भारत में चुनाव से पहले राजनीतिक पार्टियों की ओर से किए जाने वाले लोकलुभावन वादों यानी फ़्री बी पर रोक लगाने को लेकर सख़्ती दिखाई है। शीर्ष न्यायालय ने कहा ...
 

खेल

 
बर्मिंघम में चल रहे राष्ट्रमंडल खेलों में भारत की महिला हॉकी टीम सेमी फ़ाइनल में पहुँच गई है ...
 
कॉमनवेल्थ खेल में भारत को एक और ब्रॉन्ज़ मिल गया है। लवप्रीत सिंह ने वेटलिफ़्टिंग में 109 किलोग्राम वर्ग में ब्रॉन्ज़ मेडल दिलाया है ...
 

देश

 
भारत में चुनाव से पहले राजनीतिक पार्टियों की ओर से किए जाने वाले लोकलुभावन वादों यानी फ़्री बी पर रोक लगाने को लेकर सख़्ती दिखाई है। शीर्ष न्यायालय ने कहा ...
 
भारत में प्रवर्तन निदेशालय ने दिल्ली स्थित नेशनल हेराल्ड का दफ़्तर सील कर दिया है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक़ ईडी ने ये भी निर्देश दिया है कि उसकी बिना ...