• Name
  • Email
बुधवार, 29 सितम्बर 2021
 
 

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को 'थप्पड़ मारने' की टिप्पणी के बाद केंद्रीय मंत्री नारायण राणे गिरफ़्तार

मंगलवार, 24 अगस्त, 2021  आई बी टी एन खबर ब्यूरो
 
 
भारत के राज्य महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को थप्पड़ मारने की कथित टिप्पणी को लेकर शुरू हुए विवाद के बाद बीजेपी नेता और भारत के केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को मंगलवार, 24 अगस्त 2021 को गिरफ़्तार कर लिया गया।

भारत के केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने कथित तौर पर ये कहा कि उद्धव ठाकरे को भारत की आज़ादी के साल के बारे में जानकारी नहीं है।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि नारायण राणे को तटवर्ती रत्नागिरि ज़िले में हिरासत में लिया गया है। वे वहां जन आशीर्वाद यात्रा के क्रम में दौरे पर थे।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि राणे को हिरासत में लिए जाने के बाद संगमेश्वर पुलिस स्टेशन ले जाया गया।

ऐसी रिपोर्टें हैं कि नारायण राणे ने उच्च रक्त चाप और मधुमेह को लेकर शिकायत की थी जिसके बाद उनकी जांच के लिए एक डॉक्टर को बुलाया गया।

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ सोमवार को रायगढ़ में उन्होंने जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान ये कहा था कि ''ये शर्मनाक है कि मुख्यमंत्री को स्वतंत्रता के वर्ष के बारे में नहीं पता है। उन्होंने अपने भाषण के दौरान पीछे मुड़कर स्वतंत्रता के वर्षों के बारे में जानने के लिए पूछताछ की। अगर मैं वहां होता, तो मैं उन्हें ज़ोर का थप्पड़ लगाता।''

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे का दावा है कि स्वतंत्रता दिवस के अवसर अपने भाषण के दौरान मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे आज़ादी मिलने के साल के बारे में भूल गए थे।

राणे के मुताबिक़ उद्धव ठाकरे ने भाषण के दौरान अपने सहयोगी से स्वतंत्रता के वर्ष के बारे में पूछताछ की।

नारायण राणे के बयान के बाद शिव सेना और बीजेपी समर्थकों में हिंसक झड़प

भारत के केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के बयान देने के बाद और गिरफ्तारी से पहले महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में मंगलवार, 24 अगस्त 2021 को केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के घर के क़रीब शिव सेना युवा इकाई और बीजेपी के कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प हुई।

नारायण राणे ने सोमवार, 23 अगस्त 2021 को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के ख़िलाफ़ विवादित टिप्पणी की थी जिसके बाद शिव सेना की युवा इकाई के कार्यकर्ता राणे के घर की ओर जा रहे थे।

पुलिस ने बताया है कि दोनों ओर से पत्थरबाज़ी की गई जिसके बाद पुलिस ने लोगों को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया।

अधिकारियों के मुताबिक़, राणे के घर के नज़दीक सांताक्रूज़ (पश्चिम) में जुहू तारा रोड पर शिव सेना कार्यकर्ता धरने पर बैठे थे, दोनों ओर से नारेबाज़ी होने लगी।

इस घटना के बाद इलाक़े में अतिरिक्त पुलिस बल को तैनात किया गया है।

वहीं, समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक़ नाशिक में शिव सेना के कार्यकर्ताओं ने बीजेपी के कार्यालय पर पत्थरबाज़ी की है और नारायण राणे के ख़िलाफ़ नारे लगाए हैं।

पुलिस के अनुसार, शिव सेना और बीजेपी समर्थकों के बीच महाराष्ट्र के रत्नागिरी ज़िले के चिपलुन में भी झड़प हुई है।

सोमवार, 23 अगस्त 2021 को रायगढ़ ज़िले में जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान राणे ने कहा था कि यह शर्मनाक है कि एक मुख्यमंत्री को देश का स्वतंत्रता का साल नहीं मालूम है।

राणे ने कहा था कि मुख्यमंत्री अपने भाषण के दौरान स्वतंत्रता का साल पूछने के लिए वापस मुड़े थे।

''मैं अगर वहां पर होता तो मैं (उन्हें) कस कर थप्पड़ मारता।''

राणे के ख़िलाफ़ नाशिक साइबर पुलिस स्टेशन में एक एफ़आईआर दर्ज की गई है।

नारायण राणे के ख़िलाफ़ एफ़आईआर, कहा था- उद्धव ठाकरे को 'थप्पड़ मारता'

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को 'थप्पड़' मारने की बात कहने के मामले में केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज की गई है।

समाचार एजेंसी एएनआई ने नाशिक के पुलिस कमिश्नर दीपक पांडे से बात की है जिन्होंने बताया है कि शिव सेना नाशिक के प्रमुख ने केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के बयान पर शिकायत दर्ज कराई थी और कहा था कि इसने उन्हें धक्का पहुँचाया है और इससे क़ानून-व्यवस्था की समस्या खड़ी हो सकती है।

पुलिस कमिश्नर दीपक पांडे ने बताया कि ''नाशिक साइबर पुलिस स्टेशन में एक एफ़आईआर दर्ज की गई है। यह एक गंभीर मामला है और केंद्रीय मंत्री के ख़िलाफ़ कार्रवाई के लिए एक टीम को भेजा गया है। वह जिस भी जगह पर होंगे, उन्हें कोर्ट के सामने पेश किया जाएगा। हम कोर्ट के फैसले का पालन करेंगे।''

वहीं, केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा है कि उन्हें एफ़आईआर के बारे में कोई जानकारी नहीं है।

उन्होंने कहा, "मेरे ख़िलाफ़ एफ़आईआर की जानकारी मुझे नहीं है। मैं एक सामान्य आदमी नहीं हूँ। मैंने कोई जुर्म नहीं किया है। क्या यह जुर्म नहीं है कि कोई 15 अगस्त के बारे में नहीं जानता है? मैंने कहा था कि मैं थप्पड़ मारता। ये शब्द थे और यह कोई अपराध नहीं है।''

सोमवार, 23 अगस्त 2021 को रायगढ़ ज़िले में जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान राणे ने कहा था कि यह शर्मनाक है कि एक मुख्यमंत्री को देश का स्वतंत्रता का साल नहीं मालूम है।

राणे ने कहा था कि मुख्यमंत्री अपने भाषण के दौरान स्वतंत्रता का साल पूछने के लिए वापस मुड़े थे।

''मैं अगर वहां पर होता तो मैं (उन्हें) कस कर थप्पड़ मारता।''

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, पुणे सिटी पुलिस ने भी केंद्रीय मंत्री के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज की है।
 
 
 
 
 
 
 
 
 

खास खबरें

 
भारत के राज्यों पंजाब और हरियाणा की संयुक्त राजधानी चंडीगढ़ के राजभवन में सोमवार, 20 सितम्बर 2021 को कांग्रेस नेता चरणजीत सिंह चन्नी ने पंजाब के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली ...
संयुक्त राष्ट्र के महासचिव ने एक नए शीत युद्ध की चेतावनी देते हुए कहा है कि चीन और अमेरिका को 'पूरी तरह से अस्त-व्यस्त' हुए अपने संबंधों को सुधारना चाहिए। समाचार एजेंसी एपी को ...
 

खेल

 

देश

 
भारत में केंद्र सरकार ने रक्षा मंत्रालय के हवाले से सुप्रीम कोर्ट में बताया है कि महिलाओं को नेशनल डिफ़ेंस एकेडमी (एनडीए) में दाख़िला लेने के लिए ज़रूरी सभी इंतज़ाम मई 2022 तक पूरे ...
 
भारत में महाराष्ट्र सरकार द्वारा राज्य में अन्य पिछड़ा वर्ग के लोगों की जनगणना कराए जाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई याचिका पर भारत की केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा है कि ...