• Name
  • Email
बुधवार, 29 सितम्बर 2021
 
 

इसराइल के प्रधानमंत्री का एक दशक बाद मिस्र का दौरा, ग़ज़ा पट्टी पर चर्चा

मंगलवार, 14 सितम्बर, 2021  आई बी टी एन खबर ब्यूरो
 
 
एक दशक के बाद इसराइली प्रधानमंत्री ने मिस्र का दौरा किया है। यह दौरा ऐसे समय पर हुआ है जब एक बार फिर ग़ज़ा पट्टी में तनाव बढ़ रहा है।

सोमवार, 13 सितम्बर 2021 को इसराइल के प्रधानमंत्री नेफ़्टाली बेनेट ने मिस्र के राष्ट्रपति अब्दुल फ़तह अल-सीसी के साथ मुलाक़ात की है।

मिस्र के राष्ट्रपति कार्यालय के आधिकारिक बयान में कहा गया है कि अल-सीसी ने बेनेट के साथ शर्म अल-शेख़ के रेड सी रिज़ॉर्ट में मुलाक़ात की है।

मिस्र के सरकारी टीवी चैनल ने दोनों नेताओं की अपने-अपने राष्ट्रीय झंडों के आगे बैठी तस्वीरें दिखाई हैं जिसमें इसराइल के सैन्य प्रमुख और मिस्र के विदेश मंत्री और ख़ुफ़िया सेवा के प्रमुख भी शामिल थे।

साल 2010 में मिस्र के राष्ट्रपति होस्नी मुबारक ने इसराइली प्रधानमंत्री नेतन्याहू, फ़लस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास और अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन के साथ मुलाक़ात की थी।

साल 2011 में मिस्र में भारी विरोध प्रदर्शन हुए जिन्हें अरब स्प्रिंग्स के नाम से जाना जाता है और होस्नी मुबारक को सत्ता से हटा दिया गया।

अब्दुल फ़तह अल-सीसी ने सरकारी टीवी चैनल से कहा कि उन्होंने और बेनेट ने ग़ज़ा पट्टी पर एक लंबा संघर्ष विराम लागू करने पर चर्चा की है। इसके साथ ही इथियोपिया में नील नदी पर बांध को लेकर भी चर्चा की है जिसे मिस्र अपने पानी की आपूर्ति के लिए ख़तरा मानता है।

इसराइली प्रधानमंत्री ने अपने बयान में बैठक को लेकर कहा है कि उन्होंने ग़ज़ा में स्थिरता क़ायम करने के लिए उनके देश की भूमिका का धन्यवाद किया है।
 
 
 
 
 
 
 
 
 

खास खबरें

 
भारत के राज्यों पंजाब और हरियाणा की संयुक्त राजधानी चंडीगढ़ के राजभवन में सोमवार, 20 सितम्बर 2021 को कांग्रेस नेता चरणजीत सिंह चन्नी ने पंजाब के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली ...
संयुक्त राष्ट्र के महासचिव ने एक नए शीत युद्ध की चेतावनी देते हुए कहा है कि चीन और अमेरिका को 'पूरी तरह से अस्त-व्यस्त' हुए अपने संबंधों को सुधारना चाहिए। समाचार एजेंसी एपी को ...
 

खेल

 

देश

 
भारत में केंद्र सरकार ने रक्षा मंत्रालय के हवाले से सुप्रीम कोर्ट में बताया है कि महिलाओं को नेशनल डिफ़ेंस एकेडमी (एनडीए) में दाख़िला लेने के लिए ज़रूरी सभी इंतज़ाम मई 2022 तक पूरे ...
 
भारत में महाराष्ट्र सरकार द्वारा राज्य में अन्य पिछड़ा वर्ग के लोगों की जनगणना कराए जाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई याचिका पर भारत की केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा है कि ...