• Name
  • Email
सोमवार, 25 अक्टूबर 2021
 
 

चरणजीत सिंह चन्नी ने पंजाब के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली

सोमवार, 20 सितम्बर, 2021  आई बी टी एन खबर ब्यूरो
 
 
भारत के राज्यों पंजाब और हरियाणा की संयुक्त राजधानी चंडीगढ़ के राजभवन में सोमवार, 20 सितम्बर 2021 को कांग्रेस नेता चरणजीत सिंह चन्नी ने पंजाब के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली।

चरणजीत सिंह चन्नी पंजाब के पहले दलित मुख्यमंत्री हैं।

पंजाब के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने उन्हें पद की शपथ दिलाई।

उनके अलावा कांग्रेस नेता सुखजिंदर सिंह रंधावा और ओपी सोनी ने भी मंत्री पद की शपथ ली है।

सुखजिंदर सिंह रंधावा ने ट्वीट के ज़रिए जानकारी दी है कि उन्हें पंजाब का उप मुख्यमंत्री बनाया गया है।

हालांकि, उनका कार्यकाल काफ़ी छोटा होगा क्योंकि फ़रवरी-मार्च 2022 में विधानसभा चुनाव होने हैं।

शपथ ग्रहण समारोह के दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी राजभवन में उपस्थित रहे।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पंजाब के नए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को ट्वीट करके बधाई दी है।

पीएम मोदी ने लिखा है कि पंजाब के लोगों की बेहतरी के लिए पंजाब सरकार के साथ काम करना जारी रखेंगे।

चरणजीत सिंह चन्नी हुए भावुक, कहा बचपन में जिस के सिर पर छत नहीं थी उसे मुख्यमंत्री बना दिया

पंजाब के नए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी पद संभालने के बाद अपनी पहली प्रेस कॉन्फ़्रेंस में भावुक हो गए।

अपने पुराने दिनों को याद करते हुए उनका गला भर आया और बमुश्किल ही वो अपने आँसुओं को रोक पाए।

चन्नी ने कहा, ''एक वक़्त था जब हमारे घर में छत नहीं थी। मेरी माँ दीवारों पर प्लास्टर लगाने के लिए मिट्टी और गारा लाया करती थीं।''

उन्होंने कहा कि ये कांग्रेस की नीतियों का नतीजा है जिन्होंने मुझ जैसे ग़रीब को आज मुख्यमंत्री बना दिया।

चन्नी ने कहा, ''वो कहते रहते हैं ना आम आदमी, आम आदमी ... आम आदमी यहाँ बैठा है। हमारे पास कुछ नहीं था। घर में ठीक से छत नहीं थी लेकिन आज कांग्रेस पार्टी ने मुझे वहाँ लाकर बैठा दिया है जहाँ तक आने की मेरी औकात नहीं थी।''

उन्होंने कहा, ''राहुल गांधी एक क्रांतिकारी नेता हैं, वो ग़रीबों को सहारा देने वाले नेता हैं। मैं उनका अहसान कभी चुका नहीं पाऊंगा।''

किसानों पर आँच आई तो गर्दन पेश कर दूंगा: चरणजीत सिंह चन्नी

जब चरणजीत सिंह चन्नी भावुक होकर ये सब कह रहे थे तब पंजाब में कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत और अन्य नेता उनका कंधा थपथपाकर उन्हें संभाल रहे थे।

चरणजीत सिंह चन्नी पंजाब के पहले दलित-सिख मुख्यमंत्री हैं।

उन्होंने प्रेस कॉन्फ़्रेंस में किसानों का मुद्दा भी उठाया और कहा कि वो केंद्र सरकार से कृषि क़ानून वापस लेने की अपील करेंगे।

उन्होंने कहा कि अगर ये क़ानून वापस नहीं लिए गए तो किसानी ख़त्म हो जाएगी और पंजाब के हर परिवार पर इसका असर पड़ेगा।

चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि वो किसानों को कमज़ोर नहीं होने देंगे और उन पर किसी तरह की आँच आई तो अपनी गर्दन पेश कर देंगे।
 
 
 
 
 
 
 
 
 

खास खबरें

 
भारत के दक्षिणी राज्य केरल में लगातार बारिश और बाढ़ की वजह से अब तक कम से कम 26 लोगों की मौत हो गई है और दर्जनों लोग लापता हैं। मृतकों में पाँच बच्चे भी शामिल है। आशंका है कि ...
भारत के जम्मू संभाग में नियंत्रण रेखा से सटे पुंछ ज़िले के घने जंगलों में छिपे आतंकवादियों ने गुरुवार, 14 अक्टूबर 2021 की देर शाम भारतीय सेना की टुकड़ी पर एक दफा फिर घात लगा ...
 

खेल

 
भारत और पाकिस्तान के बीच 24 अक्टूबर 2021 को टी-20 विश्व कप का मुक़ाबला होने जा रहा है। दोनों ही टीमों के लिए यह इस विश्व कप का पहला मैच है। भारत और पाकिस्तान दोनों टी-20 विश्व ...
 
टी-20 वर्ल्ड कप 2021 में भारतीय क्रिकेट टीम सुपर 12 के ग्रुप-2 में रविवार, 24 अक्टूबर 2021 को पाकिस्तान के खिलाफ सात विकेट पर केवल 151 रन ही बना सकी और भारतीय टीम को 10 विकेट ...
 

देश

 
भारत के जम्मू संभाग में नियंत्रण रेखा से सटे पुंछ ज़िले के घने जंगलों में छिपे आतंकवादियों ने गुरुवार, 14 अक्टूबर 2021 की देर शाम भारतीय सेना की टुकड़ी पर एक दफा फिर घात लगा ...
 
भारत में शिवसेना नेता और सांसद संजय राउत ने रविवार, 17 अक्टूबर 2021 को बीजेपी और केंद्र सरकार पर केंद्रीय जांच एजेंसियों के दुरुपयोग का आरोप लगाया है। उन्होंने आरोप लगाया ...