• Name
  • Email
सोमवार, 6 दिसम्बर 2021
 
 

19 नवंबर को आंशिक चंद्र ग्रहण दिखेगा, 580 साल बाद दुर्लभ मौका आया

शनिवार, 13 नवम्बर, 2021  आई बी टी एन खबर ब्यूरो
 
 
भारत के उत्तर-पूर्वी राज्यों में 19 नवंबर 2021 को सबसे लंबा आंशिक चंद्र ग्रहण पड़ेगा। ये मौका 580 साल बाद आया है।

एमपी बिड़ला प्लेनेटोरियम के रिसर्च एवं अकादमिक विभाग के निदेशक देबीप्रसाद दुआरी ने समाचार एजेंसी पीटीआई से बात करते हुए बताया है कि ये चंद्र ग्रहण भारत के अरुणाचल प्रदेश और असम के कुछ हिस्सों में दिखाई देगा।

आंशिक चंद्रग्रहण की शुरुआत 19 नवंबर 2021 को दोपहर 12 बजकर 48 मिनट से होगी और ये 4 बजकर 17 मिनट तक दिखाई देगा।

दुआरी ने बताया है, ''इस आंशिक चंद्र ग्रहण की अवधि 3 घंटे 28 मिनट और 24 सेकेंड होगी।''

इससे पहले इतना लंबा चंद्रग्रहण 18 फरवरी 1440 को पड़ा था और अगला मौका 8 फरवरी, 2669 में आएगा।

भारत के अलावा ये चंद्र ग्रहण उत्तर अमेरिका, दक्षिण अमेरिका, पूर्वी एशिया, ऑस्ट्रेलिया और प्रशांत क्षेत्र में देखा जा सकेगा।

यूएस ईस्ट कोस्ट में आंशिक चंद्र ग्रहण रात 2 बजे के बाद शुरू होगा, जो सुबह 4 बजे चरम पर होगा। वहीं वेस्ट कोस्ट में रात 11 बजे के बाद शुरू होगा और रात 1 बजे चरम पर होगा।

आंशिक चंद्र ग्रहण, पूर्ण चंद्र ग्रहण जितना शानदार नहीं होता है - जहां चंद्रमा पूरी तरह से पृथ्वी की छाया से ढका होता है - हालांकि ये ज़्यादा बार देखने को मिलते हैं।

भारत में उपछाया चंद्र ग्रहण लग रहा है। इस ग्रहण को नग्न आंखों से नहीं देखा जा सकता। इसे देखने के लिए विशेष उपकरणों की ज़रूरत पड़ती है।

साल का आख़िरी चंद्र ग्रहण

ये साल 2021 का दूसरा और आख़िरी चंद्र ग्रहण होगा। इससे पहले 26 मई 2021 को चंद्र ग्रहण लगा था, जो सुपरमून या रेड ब्लड मून यानी लाल रंग का चांद था।

19 नवंबर 2021 के आंशिक चंद्र ग्रहण के दो हफ़्ते बाद 4 दिसंबर 2021 को पूर्ण सूर्य ग्रहण लगेगा।

इसके बाद भारत में अगला चंद्र ग्रहण 8 नवंबर 2022 को देखा जाएगा।

नासा के मुताबिक़, एक साल में अधिकतम तीन चंद्र ग्रहण हो सकते हैं। नासा का अनुमान है कि 21वीं सदी में कुल 228 चंद्र ग्रहण होंगे।

उपछाया चंद्र ग्रहण क्या होता है?

ग्रहण की शुरुआत से पहले चंद्रमा धरती की उपछाया में प्रवेश करता है। चंद्रमा जब धरती की वास्तविक छाया में प्रवेश करता है, तभी उसे पूर्ण रूप से चंद्र ग्रहण माना जाता है।

लेकिन अगर चंद्रमा धरती की वास्तविक छाया में प्रवेश किए बिना ही बाहर आ जाता है, तो उसे उपछाया ग्रहण कहते हैं।
 
 
 
 
 
 
 
 
 

खास खबरें

 
बांग्लादेश की विपक्षी पार्टी शेख हसीना सरकार को निशाने पर ले रही है। बांग्लादेश के विदेश मंत्री डॉ एके अब्दुल मोमेन ने गुरुवार, 25 नवंबर 2021 को कहा था कि बांग्लादेश का लोकतंत्र ...
संयुक्त अरब अमीरात के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि तुर्की उनका स्वभाविक सहयोगी है क्योंकि दोनों देश समान दृष्टिकोण रखते हैं और कई रणनीतिक विषयों पर उनकी सहमति ...
 

खेल

 

देश

 
भारत के सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश एनवी रमन्ना ने शुक्रवार, 26 नवंबर 2021 को कहा है कि संविधान ने कार्यपालिका, न्यायपालिका और विधायिका के बीच शक्तियों के बंटवारे की ...