• Name
  • Email
शनिवार, 28 मई 2022
 
 

श्रीलंका में हिंसक विरोध प्रदर्शनों के बीच भारत ने कहा, हम अपने क़रीबी पड़ोसी के साथ हैं

मंगलवार, 10 मई, 2022  आई बी टी एन खबर ब्यूरो
 
 
भारत ने कहा है कि श्रीलंका का क़रीबी पड़ोसी होने और उसके साथ ऐतिहासिक संबंध होने के नाते, भारत उसके लोकतंत्र, स्थिरता और आर्थिक स्थिति में सुधार को लेकर पूरी तरह साथ है।

भारतीय विदेश मंत्रालय ने एक सवाल के जवाब में कहा कि पड़ोसियों को प्राथमिकता देने की अपनी नीति के मद्देनज़र भारत ने मौजूदा कठिनाइयों से निपटने के लिए श्रीलंका के लोगों को सिर्फ़ साल 2022 में 3.5 अरब डॉलर से ज़्यादा की राशि का सहयोग दिया है।

विदेश मंत्रालय के मुताबिक़ इसके अलावा भारत ने ज़रूरी सामनों जैसे खाद्यान्न और दवाओं की कमी को पूरा करने में भी मदद दी है।

इस समय श्रीलंका अब तक की सबसे बुरे आर्थिक दौर से गुज़र रहा है। भारत ने कई मौक़े पर श्रीलंका की मदद की है। एक दिन पहले ही मौजूदा स्थिति को देखते हुए महिंदा राजपक्षे ने प्रधानमंत्री के पद से इस्तीफ़ा दे दिया था।

सोमवार, 9 मई, 2022 का दिन श्रीलंका में हिंसक प्रदर्शनों का दिन रहा। कई बार सरकार समर्थकों और सरकार विरोधियों में झड़प हुई। कई सांसदों के घरों में आ लगा दी गई। प्रदर्शनकारियों ने महिंदा राजपक्षे के पैतृक घर में भी आग लगा दी।
 
 
 
 
 
 
 
 
 

खास खबरें

 
ऑस्ट्रेलिया के निवर्तमान प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने शनिवार, 21 मई, 2022 को हुए आम चुनावों में अपनी हार स्वीकार कर ली है ...
भारत में पेट्रोल-डीज़ल की क़ीमतों में कमी के ऐलान के साथ-साथ भारत की केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रधानमंत्री उज्ज्वला गैस योजना के लाभार्थियों के लिए 200 रुपये ...
 

खेल

 
भारत की निख़त ज़रीन ने 52 किलो भार वर्ग में महिलाओं की वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप जीतकर इतिहास रच दिया है ...
 
उमरान मलिक आईपीएल के मौजूदा सीजन में तेज़ गेंदबाज़ी की नई सनसनी के तौर पर सामने आए हैं। बीसीसीआई के सेलेक्टर्स ने उन्हें रविवार, 22 मई, 2022 को इसका इनाम दिया ...
 

देश

 
भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 31वीं पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है ...
 
भारत के राज्य राजस्थान के जयपुर में हो रही बीजेपी की राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल के दिनों में राष्ट्र भाषा पर छिड़ी बहस पर अपनी राय दी है ...