• Name
  • Email
शनिवार, 3 दिसम्बर 2022
 
 

हमें ऐसे चुनाव आयुक्त की ज़रूरत है जो आरोप लगने पर प्रधानमंत्री तक के ख़िलाफ़ कार्रवाई कर पाएं: सुप्रीम कोर्ट

बुधवार, 23 नवम्बर, 2022  आई बी टी एन खबर ब्यूरो
 
 
भारत के सुप्रीम कोर्ट ने अरुण गोयल को 19 नवंबर 2022 को चुनाव आयुक्त नियुक्त किए जाने के तरीके पर कड़ी नाराज़गी जताई है।

बुधवार, 23 नवम्बर 2022 को जस्टिस केएम जोसेफ की अध्यक्षता वाली पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ मुख्य चुनाव आयुक्त (सीईसी) और चुनाव आयुक्त (ईसी) की नियुक्ति प्रक्रिया की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई कर रही थी।

इस पीठ में जस्टिस अजय रस्तोगी, अनिरुद्ध बोस, ऋषिकेश और सीटी रविकुमार भी शामिल थे।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हमें ऐसे चुनाव आयुक्त की ज़रूरत है जो आरोप लगने पर प्रधानमंत्री तक के ख़िलाफ़ कार्रवाई कर पाएं।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि ज्यादा अच्छा होता कि जब संविधान पीठ मामले की सुनवाई कर रही है तो अरुण गोयल की नियुक्ति नहीं की जाती।

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से अरुण गोयल की नियुक्ति से संबंधित फाइल पेश करने को भी कहा है। कोर्ट ने भारत के अटॉर्नी जनरल से गोयल की नियुक्ति से जुड़ी फाइलें गुरुवार, 24 नवम्बर 2022 तक लाने के लिए कहा है।

कोर्ट का कहना है कि वह उस पूरी प्रक्रिया को समझना चाहता है जिसका पालन चुनाव आयुक्त की नियुक्ति के समय किया गया था।
 
 
 
 
 
 
 
 
 

खास खबरें

 
फ़ीफ़ा विश्व कप में दो बार के विश्व चैंपियन अर्जेंटीना पर सऊदी अरब की जीत के बाद बुधवार, 23 नवम्बर 2022 को एक और बड़ा उलट-फेर हुआ है। आज बारी जापान की थी ...
गुजरात हाई कोर्ट ने मोरबी पुल हादसे में मृतकों और घायलों को दिए जाने वाले मुआवज़े को लेकर भी गुजरात सरकार को फटकार लगाई है ...
 

खेल

 
फ़ीफ़ा विश्व कप में दो बार के विश्व चैंपियन अर्जेंटीना पर सऊदी अरब की जीत के बाद बुधवार, 23 नवम्बर 2022 को एक और बड़ा उलट-फेर हुआ है। आज बारी जापान की थी ...
 
फ़ीफ़ा वर्ल्ड कप में रविवार, 27 नवम्बर 2022 को मोरक्को ने बड़ा उलटफेर करते हुए बेल्जियम पर 2-0 से जीत दर्ज की। इसके बाद बेल्जियम और नीदरलैंड्स के कई शहरों में दंगे शुरू हो गए ...
 

देश

 
भारत के सुप्रीम कोर्ट ने अरुण गोयल को 19 नवंबर 2022 को चुनाव आयुक्त नियुक्त किए जाने के तरीके पर कड़ी नाराज़गी जताई है ...